लोन कैसे मिलेगा, Loan क्या है और कैसे ले, Bank Loan लेने के तरीके

रुपए, पैसे, धन या Money के बिना कोई भी कार्य को कर पाना लगभग असंभव होता है, मानव जीवन में धन का विशेष महत्व है अपना व्यवसाय, व्यापार, Business Start करने के लिए रुपए की आवश्यकता होता है और हमारे पास रुपए धन उपलब्ध नहीं होता, तब हम ऋण, Bank Loan के बारे में सोचते हैं, तो आज हम इसी कड़ी में लोन कैसे मिलेगा, लोन क्या है और कैसे ले, Bank Loan लेने के तरीके (What is loan in Hindi) बारे में जानेंगे.

लोन कैसे मिलेगा
लोन कैसे मिलेगा, लोन क्या है और लोन कैसे ले, Bank Loan लेने के तरीके
Table Of Content Hide

लोन क्या है?

Loan जिसे हिंदी में ऋण कहा जाता है, loan का अर्थ होता है उधार यानी हम जब आपने व्यक्तिगत जरूरत और व्यवसायिक आवश्यकताओं की पूर्ति हेतु किसी संस्था या Bank से उधार में धनराशि प्राप्त करते हैं और उसे एक निश्चित अवधि में वापस लौटा दिया जाता है, उसे लोन कहा जाता है जैसे बिजनेस लोन, होम लोन, एजुकेशन लोन.

लोन देने वाले व्यक्ति को यह संस्था को ऋणदाता (Creditors) और लोन प्राप्त करने वाले व्यक्ति को ऋणी (Debtor)कहा जाता है

लोन के प्रकार

  • Business Loan
  • Home Loan
  • Car Loan
  • Education Loan
  • Personal Loan
  • Gold Loan

लोन कैसे ले और लोन कैसे मिलेगा

Loan अधिकतर लोग अपने उनकी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए लेना चाहते हैं जैसे किसी को बिजनेस स्टार्ट करना है, किसी को घर बनाना है या हायर एजुकेशन के लिए लोन लेने के कारण हो सकते हैं तो अब बात आती है business लोन कैसे ले और लोन कैसे मिलेगा, तो आपको इसके लिए नीचे दिया गया है स्टेप्स को पूरा करना होगा –

>> अपने कार्य में एक्सपर्ट बने.

Bank Loan लेने के लिए सबसे पहले हमें अपने कार्य अर्थात अपने business work में expert बनना चाहिए इससे सम्बंधित जानकारी प्राप्त कर पुरे business कार्य को सीख लेना चाहिए, क्योकि जब बैंक लोन के लिए जायेंगे तो वे आपके Job Skills और Soft Skills को चेक करता है.

>> अपने कार्य को प्रारंभ करें.

हम लोग यह सोचते है की पहले लोन के धनराशी मिले, फिर अपना business start करेंगे, लेकिन बैंक देखता है आप अभी क्या करते है, बैंक चाहता है की आप अपने स्तर पर कार्य प्रारंभ करें, इसलिए आपको अपने बचत राशी से छोटे लेवल पर अपना business start कर लेना चाहिए जिससे आप Bank के नज़र में आपका इमेज अच्छा बनेगा.

>> Project Report तैयार करें.

अपने business का Project Report अर्थात परियोजना प्रतिवेदन बैंक में जाने से पहले तैयार कर लेना चाहिए, क्योकि जब हम बैंक लोन के लिए बैंक के पास जायेंगे तो सबसे पहले वह हमसे प्रोजेक्ट रिपोर्ट की मांग करेंगे और Bank Manager हमसे हमारे business के बारे में जानकारी मांगगे और हम पूर्ण जानकारी देंगे तभी बैंक लोन के eligible होंगे.

>> बैंक ब्रांच मैनेजर से जाकर मिले.

जिस बैंक में आपका लेन-देन अच्छा है वहां पर ब्रांच में जाकर आपको अपने बैंक मैनेजर से मिलना होगा और उन्हें अपने व्यवसाय की संपूर्ण जानकारी देना चाहिए साथ ही साथ आपको अपने बिजनेस को स्टार्ट करने के लिए कितने लोन की आवश्यकता है यह जानकारी हमें बैंक मैनेजर के साथ शेयर करना चाहिए साथ ही साथ उनसे यह जानकारी ले ले लेना चाहिए कि वह हमें कितना तक का लोन दे सकते हैं।

>> सरकारी बैंक लोन Scheme की जानकारी प्राप्त करें.

अब हमें सरकारी लोन स्कीम की जानकारी प्राप्त करना चाहिए जिसमें हमें लोन लेने पर भारत सरकार द्वारा निश्चित राशि सब्सिडी के रूप में प्राप्त होता है भारत सरकार उद्योग व्यवसाय को बढ़ावा देने के लिए हमें अनुदान की राशि प्रदान करता है।

हमें अपने जिले के जिला व्यापार एवं उद्योग केंद्र यह आपको अपने जिले के कलेक्ट्रेट परिसर उपलब्ध हो सकता है एवं जिला पंचायत में स्थित खादी एवं ग्रामोद्योग केंद्र में जाकर विभिन्न बैंक लोन हेतु योजनाओं की जानकारी ले सकते हैं।

सरकारी योजनाएं

  1. PMEGP (Prime Minister Employment Generation Programme)
  2. मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना
  3. अंत्यावसायी स्वरोजगार योजना
  4. Jan Samarth Portal
  5. KVIC
  6. KVIB

>> ऑनलाइन या ऑफलाइन Bank Loan Application अप्लाई करें.

अब हमारे पास मुख्य दो प्रकार के सरकारी योजना उपलब्ध है जैसे कि प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (PMEGP) और मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना (MMYSY) आप PMEGP scheme को online और MMYSY को offline apply कर सकते है।

>> Bank बैंक से अपने लोन एप्लीकेशन की जानकारी प्राप्त करना.

अब केवल ऑनलाइन फॉर्म या ऑफलाइन जाकर फॉर्म विभाग में भर देने से काम नही होगा अब आपको लगातार बैंक और विभाग में आपके loan application का जानकारी पर्याप्त करते रहना होगा।

>> बैंक में अनिवार्य डॉक्यूमेंट जमा करना.

अब आपको बैंक में loan application form और अन्य सभी अनिवार्य दस्तावेज को जमा करना होगा साथ ही बैंक द्वारा आपका loan फ़ाइल तैयार करेगा। इसलिए बैंक द्वारा मांगे गए सभी document को जमा करें।

>> कोटेशन तैयार करें.

अब आपका loan sancation हो गया है, तब आपको Term Loan अर्थात business में लगने वाले मशीन एवं उपकरण की खरीदी करने हेतु कोटेशन बैंक में जमा करना होगा ध्यान रखे कोटेशन हमेशा GST नंबर वाले शॉप से कोटेशन प्राप्त करें।

>> EDP (उद्यमिता विकास कार्यक्रम) ट्रेनिंग प्राप्त करें.

आपका बैंक लोन स्वीकृत हो जाने के बाद आपको EDP Training करना होता है, जिसके बाद आप सरकार द्वारा दी जारी अनुदान हेतु eligible हो जाते है।

PMEGP EDP Training online किया जा सकता है इसके आलावा हम RSETI से भी EDP Training कर सकते है।

अगर आप ऊपर दिए information के अनुसार कार्य करते करते है तो निश्चित ही आपको bank loan मिलने की संभावना बढ़ जाती है, तो लोन कैसे मिलेगा, Loan क्या है और कैसे ले, Bank Loan लेने के तरीके इस प्रश्न का answer यही है।

लोन के लिए आवेदन कब करें.

बैंक लोन के लिए आवेदन करने के लिए हमें वित्तीय वर्ष के प्रारंभ अप्रैल माह से Start कर देना चाहिए क्योंकि जो लोन देने के लिए बैंक और सरकारी संस्थान को Target अप्रैल month से प्राप्त हो जाता है, यदि आप वित्तीय वर्ष के अंत में आवेदन करेंगे तो आपको लोन मिलना मुश्किल होगा क्योंकि सभी विभागों का लोन देने का लक्ष्य पूरा हो जाता है.

लोन के लिए आवेदन कहा करें.

लोन लेने के लिए आवेदन निम्नलिखित सरकारी विभागों से आवेदन कर सकते हैं

  1. जिला एवं व्यापार उद्योग केंद्र (DIC)
  2. खादी एवं ग्रामोद्योग केंद्र
  3. छत्तीसगढ़ राज्य अंत्यावसायी सहकारी वित्त एवं विकास निगम
  4. NABARD (National Bank for Agriculture and Rural Development)
  5. SIDBI – Small Industries Development Bank of India
  6. Pradhan Mantri MUDRA Yojana
  7. DAY – NULM – National Urban Livelihood Mission.

गवर्नमेंट डिपार्टमेंट के माध्यम से Bank Loan के लिए आवेदन करने से हमें सब्सिडी अर्थात अनुदान प्राप्त होता है अलग-अलग वर्गों के लिए अलग-अलग अनुदान की राशि होती है जैसे PMEGP के तहत आवेदन करने पर हमें 25 प्रतिशत से 35% तक सब्सिडी प्राप्त होता है अर्थात 100000 लोन लेने पर हमें 35,000 का सब्सिडी प्राप्त होगा.

बैंक के माध्यम से भी सीधे लोन के लिए आवेदन किया जा सकता है लेकिन डायरेक्ट बैंक से आवेदन करने पर किसी भी प्रकार का अनुदान या सब्सिडी प्राप्त नहीं होता है.

Important Website for Loan Application

  1. Mudra
  2. PMEGP Online Application
  3. PM Swanidhi
  4. Udyam Mitra
  5. NABARD
  6. SIDBI

4 C’s of Credit (Loan) क्या है 

  1. Character of Debtor
  2. Capacity of Business
  3. Capital of Business
  4. Collateral

>> Character of Debtor (ऋणी का चरित्र)

4 C’s of Credit का सबसे पहले C का पूरा नाम है Charcter जिसे हिंदी में चरित्र कहा जाता है, जब हम किसी से Credit / उधार में पैसे, रुपये या अन्य सामग्री लेते है तो वह सबसे पहले हमारे character को देखता है यही काम बैंक मैनेजर करता है, वह हमारे बारे में जानकारी एकत्र करता है और हमारे character को जानने का प्रयास करता है, हमारा charcter सही मिलने पर ही वह हमारे बैंक लोन application को प्रोसेस करता है।

>> Capacity of Business (व्यवसाय का छमता)

Creditor हमारे Capacity का analysis करता है, तभी हम loan देता है क्योंकि वह देखता है कि जिन्हें मैं loan दे रहा हु वो मुझे रुपये वापस कर पायेगा या नही। इसलिए हमें अपने business के छमता / Capacity को ध्यान में रख कर loan लेना चाहिए।

>> Capital of Business (व्यवसाय की पूंजी)

Bank द्वारा दिये जाने वाला loan अधिकतर आपके business मशीनरी एवम उपकरण को ध्यान में रख कर दिया जाता है, क्योकि बैंक को अपने रुपये भी वापस लेना होता हैं, बैंक अगर आप loan amount को repay नही कर पाते उस condition में बैंक fixed assets को बेच कर loan का भरपाई करता है।

>> Collateral (संपार्श्विक)

बैंक लोन देते समय बैंक मैनेजर द्वारा ऋण प्राप्त करने वाले हितग्राही का जमीन एवं अन्य संपत्तियों को ध्यान में रखकर लोन दिया जाता है इसलिए यदि बैंक मैनेजर द्वारा लोन की सुरक्षा हेतु जमीन एवं अन्य संपत्तियों की जानकारी लिया जाता है तो आप निसंकोच अपनी संपत्तियों की जानकारी उन्हें दे सकते हैं।

Bank Loan हेतु योग्यता

  1. व्यक्तिगत लोन के लिए कम से कम 18 वर्ष की उम्र होना अनिवार्य है.
  2. प्रस्तावित व्यवसाय का प्रोजेक्ट रिपोर्ट.
  3. कैपिटल एक्सपेंडिचर (Term Loan) अनिवार्य.
  4. आधार कार्ड अनिवार्य.
  5. पैन कार्ड नंबर होना अनिवार्य.
  6. सरपंच या पार्षद द्वारा No Objection Certificate होना अनिवार्य।

Bank Loan Application Form के लिए आवश्यक दस्तावेज

  1. आधार कार्ड (अनिवार्य)
  2. PAN Card (अनिवार्य)
  3. पासपोर्ट साइज फोटो (अनिवार्य)
  4. शैक्षणिक योग्यता प्रमाण पत्र जैसे – 8th, 10th, 12th or Graduation जो भी उपलब्ध. (अनिवार्य)
  5. जाति प्रमाण पत्र (अनिवार्य)
  6. निवास प्रमाण पत्र
  7. अनापत्ति प्रमाण पत्र ग्राम के सरपंच या पार्षद द्वारा (अनिवार्य)
  8. उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन (Loan Sanction के बाद)
  9. उद्यमिता विकास कार्यक्रम प्रशिक्षण प्रमाण पत्र (Loan Sanction के बाद)

लोन के वर्गीकरण

  1. Secured Loan
  2. Unsecured Loan

सुरक्षित लोन (Secured Loan)

सुरक्षित लोन वह Loan होता है, जिसके बदले हमें अपने जमीन या प्रॉपर्टी को गारंटी के रूप में बैंक में जमा करना होता है और उसे हम जब तक हासिल नहीं कर सकते तब तक के Loan हम पूरा Repayment नहीं कर देते है.

जैसे Home Loan, Vehicle Loan, Car Loan लेने पर हमें डॉक्यूमेंट को बैंक में जमा रखना होता है और अपने Home या Vehicle, Car का sole ownership को claim नहीं कर सकते हैं जब तक की Loan अमाउंट का पूरा पेमेंट नहीं हो पाता है.

  • Vehicle loans
  • Mortgage loans
  • Life insurance loans

असुरक्षित लोन (Unsecured Loan)

Unsecured Loan को हिंदी में असुरक्षित Loan कहा जाता है, क्योंकि इस प्रकार के लोन लेने पर हमें collateral, guarantee रखने की आवश्यकता नहीं पड़ती है, असुरक्षित Loan लेने के लिए आपको बैंक के साथ अच्छा लेनदेन रखने की आवश्यकता होती है साथ ही आपका CIBIL Score अच्छा होना चाहिए.

  • Business Loans
  • Personal Loans
  • Credit Card Loans

Loan संबंधी शब्दावली

Bank Loan लेने के तरीके : अगर आप लोन लेने के बारे में सोच रहे हैं तो सबसे पहले आपको लोन में उपयोग होने वाले महत्वपूर्ण शब्दों का जानकारी होना बहुत जरूरी है.

क्योंकि अगर आप Bank Loan लेंगे तो आपको Bank जाना पड़ेगा और वहां पर आपको Bank Manager के साथ अपने Business या Personal Requirement के बारे में जानकारी देना होगा.

आपको बैंक जाने से पूर्व इन शब्दों की जानकारी लेकर जाना चाहिए जिससे आपका इंप्रेशन Bank Manager के पास अच्छा हो और आपको लोन मिल सके.

परियोजना प्रतिवेदन (Project Report)

प्रोजेक्ट रिपोर्ट प्रस्तावित व्यवसाय का लिखित विवरण होता है जिसमें व्यवसाय संबंधित संपूर्ण जानकारी होता है इसे हमें व्यवसाय प्रारंभ करने से पहले तैयार कर लेना चाहिए। अधिक जानकारी के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करें।

>>Project Report क्या है और प्रोजेक्ट रिपोर्ट कैसे बनाएँ, Free Download

कच्चामाल (Raw Materials)

व्यवसाय के संचालन हेतु रोजाना लगने वाले माल, सामग्री, स्टॉक को कच्चामाल कहा जाता है। जिनके बिना business के दैनिक कार्य को नही किया जा सकता हैं।

संयंत्र एवं उपकरण (Machinery & Tools)

संयंत्र एवं उपकरण business का fixed assets होता है, जिसे हम एक ही बार खरीदना होता है।

Term Loan

Business का fixed assets खरीदने हेतु Term Loan दिया जाता है। जैसे – संयंत्र एवं उपकरण।

Cash Credit (CC) Loan

CC LOAN व्यवसाय के दैनिक संचालन अर्थात कच्चामाल क्रय करने के लिए दिया जाता है जिसे हम Working Capital कहते है।

मूलधन राशि (Principle Amount)

वह धनराशि वह राशि है जो बैंक द्वारा लोन के रूप में दिया जाता है.

ब्याज की प्रतिशत (Rate Of Interest)

Bank द्वारा दिए गए मूलधन पर बैंक एक निश्चित ब्याज लगाया जाता है, जिसे हम Rate of Interest कहते है.

Example – 9.5%, 10%, 10.5% etc, अलग-अलग बैंक का ब्याज दर अलग-अलग हो सकता है.

Tenure (समय अवधि)

Tenure वह समय अवधि होता है जिसमें लोन का Repayment किया जाता है, जैसे- 3year, 5Year etc.

ऋणदाता (Creditors)

बैंक या किसी व्यक्ति, संस्था जो हमें धनराशी उधार में देता है उसे हम ऋणदाता कहते है.

ऋणी (Debtor)

ऋणी वह व्यक्ति होता है जो उधार में धनराशी प्राप्त करता है.

Loan लेते समय ध्यान रखने वाली बातें

CIBIL Score :- सिबिल स्कोर आपका उधार लेनदेन होने पर और उधार लिए पैसे को निश्चित समय पर चुकाने पर आपका सिबिल स्कोर अच्छा रहता है लेकिन अगर आप उधार लिए पैसे को सही समय में नहीं चुकाएंगे तो आपका सिविल इसकोर डाउन रहेगा और बैंक लोन लेने के लिए सिबिल स्कोर लगभग 750 से अधिक होना चाहिए

Income :- लोन लेते समय हमें वर्तमान की आय और भविष्य में होने वाले इनकम को ध्यान में रखकर लोन लेना चाहिए क्योंकि लिए हुए लोन को हमको बैंक वापस चुकाना होता है इसलिए अपनी क्षमता के अनुसार loan ले, जिसका भुगतान आप आसानी से कर पाए।

Age

लोन लेते समय हमें अपनी उम्र को ध्यान में रखकर लोन लेना चाहिए क्योंकि अगर आपको उम्र अधिक हो गए हैं तो आपक लोन का भुगतान करने में समस्या पैदा हो सकती है

Tenure

लोन को हमेशा 5 वर्ष या अधिक वर्षों के लिए लिया जाता है, इसलिए आपको लोन उधर भुगतान हेतु अपनी क्षमता और आय को ध्यान में रखकर लोन रीपेमेंट की अवधि का निर्धारण करना चाहिए

Interest

ब्याज दर अलग-अलग बैंकों का अलग अलग हो सकता है इसलिए आपको लोन लेते समय ध्यान रखना चाहिए कि आपके द्वारा दिए जा रहे लोन पर कितने प्रतिशत ब्याज दर लगाया जा रहा है।

Equated Monthly Instalments (EMI)

Loan की राशि प्राप्त होने के बाद हमें लोन का भुगतान EMI के माध्यम से करना होता इसलिए बैंक मैनेजर से आपका प्रतिमाह लोन पेमेंट की राशि की जानकारी प्राप्त कर लेनी चाहिए।

तो आज आपको जानकारी हुआ की loan kaise milega, लोन कैसे मिलेगा, लोन कैसे ले, Bank Loan लेने के तरीके क्या है, बैंक लोन जितना आसान हमें लगता है उतना है नही इसलिए उपर बताये गए जानकारी को ध्यान में रख कर कार्य करे जिससे आपको लोन प्राप्त हो सकता है.

Download No Objection Certificate (अनापत्ति प्रमाण पत्र ग्राम के सरपंच या पार्षद द्वारा)

Download Project Report Format

Read More : लोन कैसे मिलेगा

>> Project Report क्या है और प्रोजेक्ट रिपोर्ट कैसे बनाएँ, Free Download

>> मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना छत्तीसगढ़ 2022 | CG MMYSY Yojana

>> जनसमर्थ पोर्टल 2022 के द्वारा ऑनलाइन डिजिटल लोन की स्वीकृति घर बैठे कैसे प्राप्त करें

Leave a Comment