Journal Entry in Tally in Hindi : Tally मे Journal Entry कैसे करे with Example

Accounting Job एक बहुत ही Important Job है, जिसके द्वारा हम अपने व्यवसाय, व्यापार के लेनदेनो को Tally Accounting Software में Record करके रखते हैं जिसके माध्यम से Financial Year के अंत में व्यवसाय में हो रहे Profit & Loss का ज्ञान होता है. इसी कड़ी में Journal Entry Pass करना बहुत ही Important Job है, अगर आप एक Accounting जॉब करते हैं या अपने व्यवसाय का Tally के माध्यम से Management करते हैं तो आपको Journal Entry in Tally in Hindi, Tally मे Journal Entry कैसे करे? का ज्ञान होना बहुत जरूरी है.

Journal Entry in Tally with Example in Hindi

Journal Entry in Tally in hindi
Journal Entry in Tally Hindi

Journal Entry क्या है?

जनरल एंट्री क्या है : जनरल एंट्री Accounting Work में दो Account के मध्य Adjustment करने के लिए किया जाता है, अर्थात् किसी Bank account और cash account Debit और Credit entry किये बिना एंट्री करना Journal Entry कहलाता है. जैसे Financial year के अंत में Fixed Assets में लगने वाले Depreciation, Bad Debts, Income Receivable, Expense Payable, Provision आदि Transaction के लिए Journal Entry करना होता है.

Example : Shri Traders से ₹50000 प्राप्त होना है.
>>Journal Entry in Journal Voucher<<

Income Receivable A/C Dr 500000
to Shri Traders A/c Cr. 500000
(Shri Traders से ₹50000 प्राप्त होना है.)

Tally में Journal Entry कब करें?

आप टैली में कार्य करते हो तो Journal Voucher से परिचित है, यह एक बहुत ही अच्छा विकल्प है जिसके माध्यम से अपने Business में होने वाले Unwanted Loss और एक से अधिक account के बीच अमाउंट को Adjust करने के लिए किया जाता है.

  1. Income Receivable
  2. Expenses Payable
  3. Provision
  4. Advance Salary
  5. Bad Debts
  6. Purchase Return
  7. Sales Return
  8. Account Adjustment
  9. Advance Rent
  10. Loss
  11. Damages of Goods
  12. Theft of any Goods and Items.

Tally में Journal Entry कैसे करें?

Journal Entry in Tally : Tally में Journal Entry करने के लिए Journal Voucher का उपयोग किया जाता है, Tally में Journal Voucher का उपयोग करने के लिए हमें इन स्टेप्स को follow करने होंगे –

>> Gateway of Tally >> Accounting Vouchers >> Journal Voucher (Press F7)

अब Receipt Voucher अब आने के बाद हमें अपने वाउचर में हुए Transaction के अनुसार Ledger तैयार करना है तैयार करने के बाद आपको रिसिप्ट वाउचर में एंट्री करना होगा जैसे कि आप उदाहरण में देख पा रहे हैं

>> Ledger क्या है और कैसे बनाएं?

>> Ledger Group क्या है?

Journal Voucher क्या है?

यह एक Accounting Vouchers है इसका उपयोग Debit और Credit राशि को नगद अथवा बैंक खातो में शामिल किये बिना समायोजित करने के लिये किया जाता है।
Journal Voucher :-  का उपयोग करने के लिए निम्नलिखित स्टेप को पालन करते है

A- Gateway of Tally > Accounting Vouchers

B- F7 Button  press

Tally Journal Entry Questions and Answers with Example in Hindi

  1. ₹5000 प्रिंटर खरीदने हेतु प्रोविजन रखा गया.
  2. ₹3000 रमेश को एडवांस वेतन दिए.
  3. तृषा को ₹5000 का भेजे हुए माल में से ₹1000 का माल वापस आया.
  4. सक्षम ट्रेडर्स ₹1000 का माल वापस किया जिसे हमने माल खरीदा था.
  5. ₹3000 का माल चोरी हो गया.

Question 1 में ₹5000 प्रिंटर खरीदने हेतु प्रोविजन रखा गया जिसके लिए सबसे पहले हमें 3 ledger Create करने होंगे
1. Provision account – under Group Provision
2. Bank Account – Under Group Bank Account या Cash Account बनाना होगा.
3. Printer A/c – Fixed Assets

Question 1: ₹5000 प्रिंटर खरीदने हेतु प्रोविजन रखा गया.
Answer : Entry 1 : >>Payment Entry in Payment Voucher<<
Provision A/c 5000 Dr.
Bank A/c 5000 Cr.
(₹5000 प्रिंटर खरीदने हेतु प्रोविजन रखा गया)

लेजर बनने के बाद Payment वाउचर में जाकर प्रिंटर खरीदने हेतु Payment एंट्री पास करेंगे जिसमें Provision Account डेबिट और Bank Account / Cash Account को क्रेडिट करेंगे. इस प्रकार हम प्रोविजन अकाउंट तैयार कर सकते हैं.
प्रोविजन अकाउंट तैयार होने के बाद जब हम एक्चुअल में प्रिंटर खरीदेंगे उस समय हमें एक और एंट्री पास करना होगा जो कि इस प्रकार है

Question 1: प्रोविजन मद से ₹5000 प्रिंटर ख़रीदा गया .
Answer : Entry 2 : >>Journal Entry in Journal Voucher<<
Printer A/c 5000 Dr.
Provision A/c 5000 Cr.
₹5000 प्रिंटर खरीदने हेतु प्रोविजन रखा गया)

Question 2: ₹3000 रमेश को एडवांस वेतन दिए इसके लिए Tally में एंट्री करने के लिए तीन प्रकार के लेजर तैयार करना होगा –
1. Advance Salary (Provision) A/c – Provision Account
2. Ramesh (Salary) A/C – Indirect Expenses
3. Bank A/c – Bank Account

Question 2: ₹3000 रमेश को एडवांस वेतन दिए.
Answer :
Entry 1
>>Payment Entry in Payment Voucher<<
Advance Salary (Provision) A/c 3000 Dr.
Bank A/c 3000 Cr.
(₹3000 Ramesh को Advance Salary देने हेतु प्रोविजन रखा गया)
Entry – 2
>>Journal Entry in Journal Voucher<<
Ramesh A/c 3000 Dr.
Advance Salary (Provision) A/c 3000 Cr.
(₹3000 Ramesh को Advance Salary गया)

Question 2 ₹3000 रमेश को एडवांस वेतन दिए मैं टैली एंट्री करने के लिए हमें दो प्रकार के Voucher Entry पास करना होगा इसमें से पहला एंट्री Payment और दूसरे एंट्री Journal Voucher होगा.

Question 3: तृषा को ₹5000 का भेजे हुए माल में से ₹1000 का माल वापस आया.
Answer : >>Journal Entry in Journal Voucher<<
Sales Return A/c 1000 Dr.
Trisha A/c 1000 Cr.
(₹5000 TRISHA से ₹1000 का माल वापस आया)

Question 4: सक्षम ट्रेडर्स ₹1000 का माल वापस किया जिसे हमने माल खरीदा था.
Answer : >>Journal Entry in Journal Voucher<<
सक्षम ट्रेडर्स A/c 1000 Dr.
Purchase Return A/c 1000 Cr.
(सक्षम ट्रेडर्स ₹1000 का माल वापस किया)

Question 5: ₹3000 का माल चोरी हो गया.
Answer : >>Journal Entry in Journal Voucher<<
Theft & Loss A/c 1000 Dr.
Purchase A/c 1000 Cr.
(सक्षम ट्रेडर्स ₹1000 का माल वापस किया)

दोस्तों आपको Journal Entry in Tally in Hindi जानकारी कैसा लगा, आप हमें निचे कमेंट करके जरुर बताये और आप हमारे वेबसाइट को Home पेज में जा कर सब्सक्राइब कर सकते है और आप हमारे Telegram Channel में भी जुड़े जिससे आपको लेटेस्ट Notification मिलता रहेगा.

Read More –

  1. Contra Entry in Tally
  2. Receipt Voucher Entry in Tally
  3. Payment Voucher Entry in Tally
  4. Journal Voucher Entry in Tally
  5. Purchase Voucher Entry in Tally with GST
  6. Sales Entry in Tally with GST
  7. Debit Note Entry in Tally with GST
  8. Credit Note Entry in Tally with GST

Tally, MS Excel, MS Word की जानकारी प्राप्त करने के लिए आप हमारे Telegram को ज्वाइन कर लेटेस्ट जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

Leave a Comment