Livelihood College Balod आजीविका महाविद्यालय बालोद Free Training Institute

अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे

Livelihood College Balod (आजीविका महाविद्यालय बालोद) : सीखकर कुछ करने की इच्छा है और जीवन में आगे बढ़ना चाहते है तो लाइवलीहुड कॉलेज बालोद सिर्फ आपके लिए बना है यह एक निःशुल्क प्रशिक्षण संसथान है जहा पर आपको अपने रुचि के अनुसार प्रशिक्षण, हुनर दिया जाता है जिसमे आप स्वयं ही रोजगार या स्वरोजगार करने लायक बन जाते है।

डिस्ट्रिक्ट प्रोजेक्ट आजीविका महाविद्यालय बालोद  (District Project Livelihood College Balod) जिसे लाइवलीहुड कॉलेज बालोद के नाम से भी जाना जाता है यह  ग्राम  पाकुरभाट में स्थित  है। इस महाविद्यालय में बालोद जिले के  बेरोजगार युवक युवतिया प्रशिक्षण प्राप्त कर सकते है।  छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा, छत्तीसगढ़ के प्रत्येक जिलों में लाइवलीहुड कॉलेज खोले जाने की मंशा है जिसमे अधिकांश जिलों में लाइवलीहुड कॉलेज बालोद खोला जा जुका है।

क्या है इस जानकारी में show

Livelihood College Balod (आजीविका महाविद्यालय बालोद )  Free Training Institute

Livelihood College Balod DPLC लाइवलीहुड कॉलेज बालोद, बालोद ज़िले का उच्चस्तरी निःशुल्क प्रशिक्षण संसथान है यह एक शासकीय प्रशिक्षण संसथान है। जहां पर ग्रामीण और शहरी बेरोजगार युवक युतियों को उनके रूचि के अनुसार रोजगार मूलक कोर्स ट्रेड या पढ़यक्रमो में प्रशिक्षण दिया जा रहा है।  Livelihood College Balod में प्रशिक्षण प्राप्त कर युवक युतियों दूसरे जिले और राज्यों में कार्य कर रहे है।

Livelihood College Balod

District Project Livelihood College Balod DPLC लाइवलीहुड कॉलेज बालोद, छत्तीसगढ़ राज्य शासन के अंतर्गत [SPLC – State Project Livelihood College] राज्य परियोजना लाइवलीहुड कॉलेज छत्तीसगढ़ के द्वारा संचालित किया जाता है जिसमें युवाओं को उनकी रुचि के आधार पर मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना [MMKVY ] एवं प्रधान मंत्री कौशल विकास योजना [PMKVY ] के अंतर्गत रोजगार व स्वरोजगार मुल्क विभिन्न [NSQF – National Skill Qualified Framework] नेशनल स्किल क्वालीफिकेशन फ्रेमवर्क कोर्सों में ट्रेनिंग   दिया जा रहा है।

उदेश्य  [Objective  of  Livelihood College Balod Chhattisgarh ]

बेरोजगारी की समस्या को कम करने के लिए ग्रामीण और शहरी युवक – युवतियों के आवश्यक कौशल प्रशिक्षण [Skill Training] और कौशल उन्नयन सुनिश्चित करने के लिए के रूप में Livelihood College Balod Chhattisgarh  एक समर्पित संस्थान है । युवक/युवतियों और स्वयं सहायता समूह के महिलाओं को रोजगार और स्वरोजगार के प्रति प्रेरित कर उनके Fear of Failiour को हटा कर उन्हें स्वरोजगार की और अग्रसर करना Livelihood College Balod  Chhattisgarh  का उदेश्य है। Livelihood College Balod  Chhattisgarh, Balod जिले के बेरोजगार युवक-युवतियों के लिए सुनहरा अवसर है जिसमे आवास सुविधा के साथ निशुल्क प्रशिक्षण जा रहा है । प्रशिक्षण इच्छुक बेरोजगार युवक-युवती संस्थान में व्यक्तिगत और मोबाइल संपर्क कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं प्रशिक्षण हेतु इच्छुक युवक युवतियां अपने साथ दो फोटो, अंकसूची, जाति प्रमाण पत्र, मतदाता परिचय पत्र, आधार कार्ड और बैंक पासबुक की छायाप्रति साथ लेकर प्रशिक्षण के लिए आवेदन किया जा सकता है।

Livelihood College  Balod की विशेषताएं 

  • निशुल्क आवासीय प्रशिक्षण
  • निशुल्क छात्रावास
  • कुशल एवं अनुभवी प्रशिक्षक
  • प्रत्येक हितग्राहियों पर विशेष ध्यान
  • प्रत्येक प्रशिक्षण में थ्योरी एवं प्रैक्टिकल
  • NSQF  के अनुरूप प्रशिक्षण
  • प्रशिक्षण उपरांत सफल हितग्राहियों को सफलता का प्रमाण पत्र
  • महिला और पुरुष के लिए अलग अलग हॉस्टल सुविधा
  • निःशुल्क भोजन सुविधा
  • निःशुल्क कॉपी, पेन और ड्रेस
  • डिजिटल क्लास रूम
  • उच्च गुणवत्ता प्रशिक्षण
  • निःशुल्क प्रशिक्षण सामग्री
  • AEBAS बायोमैट्रिक अटेंडेंस।
  • Computer Skills [कंप्यूटर स्किल]
  • Communicatin Skills [कम्युनिकेशन स्किल]

livlihood college chhattisgarh

प्रशिक्षण के नियम 

  1. प्रतिदिन उपस्थिति अनिवार्य ।
  2. बायोमैट्रिक मशीन से उपस्थिति अनिवार्य ।
  3. प्रतिदिन प्रार्थना करना।
  4. परिसर में साफ सफाई रखना अनिवार्य।
  5. सही समय में क्लास में उपस्थित होना अनिवार्य।
  6. प्रशिक्षणार्थियों में प्रशिक्षण सीखने हेतु समर्पण अनिवार्य।
  7. प्रशिक्षण में नियमित उपस्थिति अनिवार्य।
  8. प्रमाण पत्र हेतु परीक्षा में सम्मिलित होकर परीक्षा उत्तीर्ण  करना अनिवार्य।
  9. प्रशिक्षण उपरांत रोजगार स्वरोजगार में संलग्न होना अनिवार्य ।
जिले के बेरोजगार युवक-युवतियों के लिए सुनहरा अवसर

Livelihood College Balod, बालोद जिले के बेरोजगार युवक-युवतियों के लिए सुनहरा अवसर है जिसमे आवास सुविधा के साथ निशुल्क प्रशिक्षण लाइवलीहुड कॉलेज बालोद में दिया जा रहा है । प्रशिक्षण इच्छुक बेरोजगार युवक-युवती संस्थान में व्यक्तिगत और मोबाइल संपर्क कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं प्रशिक्षण हेतु इच्छुक युवक युवतियां अपने साथ दो फोटो, अंकसूची, जाति प्रमाण पत्र, मतदाता परिचय पत्र, आधार कार्ड और बैंक पासबुक की छायाप्रति साथ लेकर प्रशिक्षण के लिए आवेदन किया जा सकता है

प्रशिक्षण योग्यता

  1. आयु – 18 से 45 वर्ष
  2. शिक्षा – 5 वी से 12 वी, सभी प्रशिक्षण कोर्स कार्यक्रम में अलग – अलग शैक्षणिक योग्यता निर्धारित की गयी अपने रूचि अनुसार कोर्स का चयन कर अपने योग्यता जाँच कर प्रशिक्षण प्राप्त किया जा सकता है।
  3. छत्तीसगढ़ की मूल निवासी हो।

आवश्यक दस्तावेज

  1. Aadhar Card [आधार कार्ड]
  2. 2. Bank Pass [बैंक पास बुक की फोटो कॉपी ]
  3. Education Certificate [शैक्षणिक योग्यता प्रमाण पत्र ] जैसे – 5वी से 12 वी
  4. Ration Card [राशन कार्ड]
  5. Passport Size Photo – 2 [स्वयं का २ पासपोर्ट फोटो]
  6. जाति एवं निवास प्रमाण पत्र

ये भी पढ़े – बड़ौदा आरसेटी धमतरी के प्रशिक्षण की जानकारी।

Livelihood College Balod

प्रशिक्षण शुल्क

छत्तीसगढ़ के लाइवलीहुड कॉलेजों में प्रशिक्षण के लिए किसी भी प्रकार का शुल्क देने की जरूरत नहीं है क्योंकि यह राज्य सरकार द्वारा स्थापित कॉलेज है जो सभी बेरोजगार युवक-युवतियों को उनके हुनर को निखार कर रोजगार और स्वरोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए शुरू किया गया है यह प्रशिक्षण पूर्णता निशुल्क है साथ ही इसमें प्रशिक्षण टूल किट, कॉपी, पेन, बैग और ट्रेनिंग ड्रेस निशुल्क प्रदान किया जाता है।

 

कोर्स [Livelihood College Training Courses]

  • Domestic Data  Entry Operator
  • Security Guard
  • Sewing Machine Operator
  • Assistant Electrician
  • Mason General
  • Field technician computing and peripherals
  • House keeping attendant
  • Plumber
  • Retail Sales Associate
  • Food and Beverage Service – Steward
  • Mobile handset repair engineer
  • Manual Metal Arc Welding / Shielded Metal Arc Welding Sector
  • Field Technician – AC

कार्यप्रणाली | Staff Structure of Livelihood College Balod

District Collector (Chairperson)

Govt Officer (Member)

Principal

APO

Trainers, Accountant, Office Assitant, Peon and Driver

Also Read: RSETI Training Courses and Training Center. 

पता [Address of Livelihood College Balod]

Address: Livelihood College, Pakurbhat, Balod  Chhattisgarh

लाइवलीहुड कॉलेज बालोद, पाकुरभाट बालोद छत्तीसगढ़

 
 
 
 

Livelihood College Balod DPLC Conclusion –

District Project Livelihood College Balod [SPLC], छत्तीसगढ़ शासन का एक महत्वपूर्ण Skill Development प्रोजेक्ट है जिसके द्वारा बेरोजगार युवक युक्तियों को सीधे रोजगार और स्वरोजगार से जोड़ना है यह प्रोजेक्ट पूर्व छत्तीसगढ़ शासन डॉ. रमन सिंह के द्वारा शुरुवात किया गया था वर्तमान छत्तीसगढ़ शासन श्री भूपेश बघेल द्वारा ऐसी कड़ी में रोजगार संगी मोइबल ऐप लांच किया गया है जिसमे प्रशिक्षण प्राप्त हितग्राहियो को प्रशिक्षण उपरांत तुरंत नौकरी उनके मोबाइल पर जानकारी प्राप्त हो रहा है अतः जो हितग्राही प्रशिक्षण प्राप्त कर लिए है वे जरूर Rojgar Sangi Mobile App में पंजीयन कर रोजगार की जानकारी प्राप्त कर पाने रूचि अनुशार नौकरी करे।

छत्तीसगढ़ के निशुल्क आवासीय प्रशिक्षण संस्थान आजीविका महाविद्यालयों (Livelihood Colleges ) की सूची

छत्तीसगढ़ के निशुल्क प्रशिक्षण संस्थान की जानकारी इस प्रकार है

  1. Baroda RSETI (BSVS) Dhamtari
  2. Baroda RSETI (BSVS) Durg
  3. Baroda RSETI (BSVS) Mahasamund
  4. Baroda RSETI (BSVS) Raipur
  5. Baroda RSETI (BSVS) Rajnandgaon

कौशल का अधिकार

राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था और एक युवा भारत में तेजी से विकास के साथ, हमारे युवाओं को अपने स्वयं के विकास के लिए और समग्र विकास को सक्षम करने के लिए प्रासंगिक कौशल के विकास की आवश्यकता है।

छत्तीसगढ़ ने इस विकास को अनिवार्य माना है और यह भारत का पहला राज्य है और अपने युवाओं को कौशल का अधिकार देने के लिए दक्षिण-अफ्रीकी सरकार के बाद केवल दूसरी सरकार है।

छत्तीसगढ़ का युवा अधिकार कौशल विकास अधिनियम, 2013 14 से 45 वर्ष के बीच के प्रत्येक व्यक्ति को उसके या उसके कौशल को अधिसूचित कौशल में से विकसित करने का अधिकार देता है, जो पात्रता आवश्यकताओं को पूरा करने के अधीन है, और जिला कौशल विकास प्राधिकरण जिला के तहत स्थापित किया गया है। कलेक्टर इस संबंध में कोई भी मांग प्राप्त करने के 90 दिनों के भीतर कौशल विकास प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए बाध्य हैं।

ये भी पढ़े – मशरुम की खेती कब और कैसे करें 

NCVT प्रमाणपत्र (Livelihood College Balod)

1 अप्रैल 2013 के बाद से, 1.8 लाख से अधिक युवाओं को श्रम और रोजगार मंत्रालय, भारत सरकार के तहत रोजगार और प्रशिक्षण महानिदेशालय द्वारा मॉड्यूलर रोजगार योग्य कौशल (एमईएस) के रूप में अनुमोदित विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रशिक्षित किया गया है।

इन पाठ्यक्रमों को नेशनल काउंसिल ऑफ वोकेशनल ट्रेनिंग (NCVT) द्वारा मान्यता प्राप्त है और, राष्ट्रीय रूप से सशक्त तीसरे पक्ष के मूल्यांकनकर्ता द्वारा मूल्यांकन के बाद, वे प्रशिक्षित NCVT प्रमाणपत्र प्राप्त करने के लिए पात्र हैं।

Livelihood College Balod in Chhattisgarh

छत्तीसगढ़ सरकार दूरस्थ और अल्प-सेवा वाले क्षेत्रों में रहने वाले लोगों द्वारा इस अधिकार की कवायद को सुरक्षित करने के लिए आवासीय प्रशिक्षण सुविधाओं के विस्तार की आवश्यकता के प्रति भी जागरूक है।

आजीविका महाविद्यालय के रूप में एक अनूठी पहल को सफलतापूर्वक दक्षिण बस्तर के दंतेवाड़ा जिले में शुरू किया गया। इस मुख्यतः आदिवासी और नक्सली हिंसा पीड़ित जिले के युवाओं को 2011 से कौशल की एक श्रेणी में प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है।

सितंबर 2014 तक प्रशिक्षित लगभग 4,500 युवाओं में से आधे से अधिक को या तो वेतन या स्वरोजगार में स्थापित किया गया है। इस जिला स्तर की पहल को फरवरी 2015 तक अन्य 25 जिलों में दोहराया गया है। हालांकि, वे 2017-18 तक, भौतिक बुनियादी ढाँचे के साथ पूर्ण रूप से पूर्ण पैमाने पर हासिल करेंगे, प्रत्येक कॉलेज में लगभग 1,000 युवाओं की वार्षिक प्रशिक्षण क्षमता होगी।

ये भी पढ़े : – अपने Computer पर Whatsapp का उपयोग कैसे करें?

Placement रोजगार लिंकेज

मजबूत रोजगार लिंकेज के साथ एक मजबूत नींव पर आजीविका महाविद्यालय की पहल को लागू करने के लिए, और निजी क्षेत्र के साथ भागीदारी सहित राज्य भर के छात्रों के लिए आजीविका के अवसरों की एक श्रृंखला प्रदान करने के लिए इस तरह की आजीविका कॉलेजों का एक नेटवर्क बनाने के लिए, राज्य सरकार स्थापित की गई है

द स्टेट प्रोजेक्ट लाइवलीहुड कॉलेज सोसाइटी। सोसायटी की गवर्निंग काउंसिल की अध्यक्षता मुख्यमंत्री द्वारा की जाती है और इसकी कार्यकारी समिति की अध्यक्षता मुख्य सचिव द्वारा की जाती है। इन निकायों पर एक दर्जन से अधिक हितधारक विभागों का प्रतिनिधित्व किया जाता है।

भारत सरकार ने रु। के एक बार के अतिरिक्त केंद्रीय सहायक के माध्यम से पहल का समर्थन किया है। बुनियादी ढांचे की लागत को पूरा करने के लिए 196 करोड़। राज्य सरकार द्वारा आवर्ती लागत का वहन किया जा रहा है, राज्य की अनूठी कौशल विकास अभिसरण योजना, मुखिया कौशल विकास योजना से प्रशिक्षण लागत पूरी की जा रही है, जिसमें कौशल विकास योजनाओं और 15 विभागों की 27 धाराओं से धनराशि परिवर्तित की जा रही है।

Target of Skill Development कौशल विकास के लक्ष्य

राज्य के युवाओं के लिए रोजगार से जुड़े कौशल विकास के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सोसायटी द्वारा विभिन्न मॉडल उठाए जा रहे हैं। इनमें विभागीय प्रशिक्षण, प्रतिष्ठित निजी क्षेत्र के भागीदारों के माध्यम से प्रशिक्षण और स्थापित खिलाड़ियों द्वारा कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी के तहत प्रशिक्षण शामिल हैं।

निजी खिलाड़ियों को शामिल करने में, सोसायटी भौतिक अवसंरचना, जुटाव और सुविधा प्रदान करेगी और भावी भागीदारों से बदले में रोजगार के प्रति प्रतिबद्धता की उम्मीद करेगी। राष्ट्रीय कौशल विकास निगम द्वारा प्रायोजित कौशल अंतर विश्लेषण अध्ययन के आधार पर हाल ही में डेलॉयट टूचे टोहमात्सु इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, ग्यारह कौशल विकास क्षेत्रों, जैसे सौंदर्य और कल्याण, आईसीटी, बैंकिंग और लेखा, निर्माण, चित्रकारी, ऑटोमोटिव मरम्मत, सुरक्षा, परिधान निर्माण द्वारा पूरा किया गया।

फैशन डिजाइनिंग, रिटेल, टेलिकॉम और हॉस्पिटैलिटी, को प्रतिष्ठित प्रशिक्षण भागीदारों के माध्यम से प्रशिक्षण के लिए पहचाना गया है, जिसमें बहु-राज्य पदचिह्न हैं। शीघ्र ही अभिरुचि व्यक्त की जाएगी।

SPLC livelihood college Chhattisgarh सोसायटी का लक्ष्य

livelihood college chhattisgarh सोसायटी का लक्ष्य बाजार के नेतृत्व वाली दृष्टि है। इस विजन को साकार करने के लिए इसका नेतृत्व अखिल भारतीय सेवाओं के एक वरिष्ठ अधिकारी द्वारा किया जा रहा है।

सीईओ गतिशील कौशल क्षेत्र को संबोधित करने के लिए आवश्यक कौशल और दक्षताओं के डायवर्ट सेट का प्रतिनिधित्व करने वाले पेशेवरों की एक टीम का नेतृत्व करेंगे।

टीम राज्य अर्थव्यवस्था की आवश्यकताओं, राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में राज्य के युवाओं के लिए अवसरों और राज्य के युवाओं की कौशल विकास आवश्यकताओं को समान रूप से संबोधित करने की आवश्यकताओं के संदर्भ में परिणामों पर ध्यान केंद्रित करेगी। सोसायटी ने अपनी टीम को आकर्षित करने और सक्षम करने के लिए एक लचीली और सक्षम मानव संसाधन योजना बनाई है।

 

Livelihood College Balod (आजीविका महाविद्यालय बालोद) : सीखकर कुछ करने की इच्छा है और जीवन में आगे बढ़ना चाहते है तो लाइवलीहुड कॉलेज बालोद सिर्फ आपके लिए बना है यह एक निःशुल्क प्रशिक्षण संसथान है जहा पर आपको अपने रुचि के अनुसार प्रशिक्षण, हुनर दिया जाता है जिसमे आप स्वयं ही रोजगार या स्वरोजगार करने लायक बन जाते है।

डिस्ट्रिक्ट प्रोजेक्ट आजीविका महाविद्यालय बालोद  (District Project Livelihood College Balod) जिसे लाइवलीहुड कॉलेज बालोद के नाम से भी जाना जाता है यह  ग्राम  पाकुरभाट में स्थित  है। इस महाविद्यालय में बालोद जिले के  बेरोजगार युवक युवतिया प्रशिक्षण प्राप्त कर सकते है।  छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा, छत्तीसगढ़ के प्रत्येक जिलों में लाइवलीहुड कॉलेज खोले जाने की मंशा है जिसमे अधिकांश जिलों में लाइवलीहुड कॉलेज बालोद खोला जा जुका है।

Livelihood College Balod (आजीविका महाविद्यालय बालोद )  Free Training Institute

Livelihood College Balod DPLC लाइवलीहुड कॉलेज बालोद, बालोद ज़िले का उच्चस्तरी निःशुल्क प्रशिक्षण संसथान है यह एक शासकीय प्रशिक्षण संसथान है। जहां पर ग्रामीण और शहरी बेरोजगार युवक युतियों को उनके रूचि के अनुसार रोजगार मूलक कोर्स ट्रेड या पढ़यक्रमो में प्रशिक्षण दिया जा रहा है।  Livelihood College Balod में प्रशिक्षण प्राप्त कर युवक युतियों दूसरे जिले और राज्यों में कार्य कर रहे है।

Livelihood College Balod

District Project Livelihood College Balod DPLC लाइवलीहुड कॉलेज बालोद, छत्तीसगढ़ राज्य शासन के अंतर्गत [SPLC – State Project Livelihood College] राज्य परियोजना लाइवलीहुड कॉलेज छत्तीसगढ़ के द्वारा संचालित किया जाता है जिसमें युवाओं को उनकी रुचि के आधार पर मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना [MMKVY ] एवं प्रधान मंत्री कौशल विकास योजना [PMKVY ] के अंतर्गत रोजगार व स्वरोजगार मुल्क विभिन्न [NSQF – National Skill Qualified Framework] नेशनल स्किल क्वालीफिकेशन फ्रेमवर्क कोर्सों में ट्रेनिंग   दिया जा रहा है।

उदेश्य  [Objective  of  Livelihood College Balod Chhattisgarh ]

बेरोजगारी की समस्या को कम करने के लिए ग्रामीण और शहरी युवक – युवतियों के आवश्यक कौशल प्रशिक्षण [Skill Training] और कौशल उन्नयन सुनिश्चित करने के लिए के रूप में Livelihood College Balod Chhattisgarh  एक समर्पित संस्थान है । युवक/युवतियों और स्वयं सहायता समूह के महिलाओं को रोजगार और स्वरोजगार के प्रति प्रेरित कर उनके Fear of Failiour को हटा कर उन्हें स्वरोजगार की और अग्रसर करना Livelihood College Balod  Chhattisgarh  का उदेश्य है। Livelihood College Balod  Chhattisgarh, Balod जिले के बेरोजगार युवक-युवतियों के लिए सुनहरा अवसर है जिसमे आवास सुविधा के साथ निशुल्क प्रशिक्षण जा रहा है । प्रशिक्षण इच्छुक बेरोजगार युवक-युवती संस्थान में व्यक्तिगत और मोबाइल संपर्क कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं प्रशिक्षण हेतु इच्छुक युवक युवतियां अपने साथ दो फोटो, अंकसूची, जाति प्रमाण पत्र, मतदाता परिचय पत्र, आधार कार्ड और बैंक पासबुक की छायाप्रति साथ लेकर प्रशिक्षण के लिए आवेदन किया जा सकता है।

Livelihood College  Balod की विशेषताएं 

  • निशुल्क आवासीय प्रशिक्षण
  • निशुल्क छात्रावास
  • कुशल एवं अनुभवी प्रशिक्षक
  • प्रत्येक हितग्राहियों पर विशेष ध्यान
  • प्रत्येक प्रशिक्षण में थ्योरी एवं प्रैक्टिकल
  • NSQF  के अनुरूप प्रशिक्षण
  • प्रशिक्षण उपरांत सफल हितग्राहियों को सफलता का प्रमाण पत्र
  • महिला और पुरुष के लिए अलग अलग हॉस्टल सुविधा
  • निःशुल्क भोजन सुविधा
  • निःशुल्क कॉपी, पेन और ड्रेस
  • डिजिटल क्लास रूम
  • उच्च गुणवत्ता प्रशिक्षण
  • निःशुल्क प्रशिक्षण सामग्री
  • AEBAS बायोमैट्रिक अटेंडेंस।
  • Computer Skills [कंप्यूटर स्किल]
  • Communicatin Skills [कम्युनिकेशन स्किल]

livlihood college chhattisgarh

प्रशिक्षण के नियम 

  1. प्रतिदिन उपस्थिति अनिवार्य ।
  2. बायोमैट्रिक मशीन से उपस्थिति अनिवार्य ।
  3. प्रतिदिन प्रार्थना करना।
  4. परिसर में साफ सफाई रखना अनिवार्य।
  5. सही समय में क्लास में उपस्थित होना अनिवार्य।
  6. प्रशिक्षणार्थियों में प्रशिक्षण सीखने हेतु समर्पण अनिवार्य।
  7. प्रशिक्षण में नियमित उपस्थिति अनिवार्य।
  8. प्रमाण पत्र हेतु परीक्षा में सम्मिलित होकर परीक्षा उत्तीर्ण  करना अनिवार्य।
  9. प्रशिक्षण उपरांत रोजगार स्वरोजगार में संलग्न होना अनिवार्य ।
जिले के बेरोजगार युवक-युवतियों के लिए सुनहरा अवसर

Livelihood College Balod, बालोद जिले के बेरोजगार युवक-युवतियों के लिए सुनहरा अवसर है जिसमे आवास सुविधा के साथ निशुल्क प्रशिक्षण लाइवलीहुड कॉलेज बालोद में दिया जा रहा है । प्रशिक्षण इच्छुक बेरोजगार युवक-युवती संस्थान में व्यक्तिगत और मोबाइल संपर्क कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं प्रशिक्षण हेतु इच्छुक युवक युवतियां अपने साथ दो फोटो, अंकसूची, जाति प्रमाण पत्र, मतदाता परिचय पत्र, आधार कार्ड और बैंक पासबुक की छायाप्रति साथ लेकर प्रशिक्षण के लिए आवेदन किया जा सकता है

प्रशिक्षण योग्यता

  1. आयु – 18 से 45 वर्ष
  2. शिक्षा – 5 वी से 12 वी, सभी प्रशिक्षण कोर्स कार्यक्रम में अलग – अलग शैक्षणिक योग्यता निर्धारित की गयी अपने रूचि अनुसार कोर्स का चयन कर अपने योग्यता जाँच कर प्रशिक्षण प्राप्त किया जा सकता है।
  3. छत्तीसगढ़ की मूल निवासी हो।

आवश्यक दस्तावेज

  1. Aadhar Card [आधार कार्ड]
  2. 2. Bank Pass [बैंक पास बुक की फोटो कॉपी ]
  3. Education Certificate [शैक्षणिक योग्यता प्रमाण पत्र ] जैसे – 5वी से 12 वी
  4. Ration Card [राशन कार्ड]
  5. Passport Size Photo – 2 [स्वयं का २ पासपोर्ट फोटो]
  6. जाति एवं निवास प्रमाण पत्र

ये भी पढ़े – बड़ौदा आरसेटी धमतरी के प्रशिक्षण की जानकारी।

Livelihood College Balod

प्रशिक्षण शुल्क

छत्तीसगढ़ के लाइवलीहुड कॉलेजों में प्रशिक्षण के लिए किसी भी प्रकार का शुल्क देने की जरूरत नहीं है क्योंकि यह राज्य सरकार द्वारा स्थापित कॉलेज है जो सभी बेरोजगार युवक-युवतियों को उनके हुनर को निखार कर रोजगार और स्वरोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए शुरू किया गया है यह प्रशिक्षण पूर्णता निशुल्क है साथ ही इसमें प्रशिक्षण टूल किट, कॉपी, पेन, बैग और ट्रेनिंग ड्रेस निशुल्क प्रदान किया जाता है।

 

कोर्स [Livelihood College Training Courses]

  • Domestic Data  Entry Operator
  • Security Guard
  • Sewing Machine Operator
  • Assistant Electrician
  • Mason General
  • Field technician computing and peripherals
  • House keeping attendant
  • Plumber
  • Retail Sales Associate
  • Food and Beverage Service – Steward
  • Mobile handset repair engineer
  • Manual Metal Arc Welding / Shielded Metal Arc Welding Sector
  • Field Technician – AC

कार्यप्रणाली | Staff Structure of Livelihood College Balod

District Collector (Chairperson)

Govt Officer (Member)

Principal

APO

Trainers, Accountant, Office Assitant, Peon and Driver

Also Read: RSETI Training Courses and Training Center. 

पता [Address of Livelihood College Balod]

Address: Livelihood College, Pakurbhat, Balod  Chhattisgarh

लाइवलीहुड कॉलेज बालोद, पाकुरभाट बालोद छत्तीसगढ़

 
 
 
 

Livelihood College Balod DPLC Conclusion –

District Project Livelihood College Balod [SPLC], छत्तीसगढ़ शासन का एक महत्वपूर्ण Skill Development प्रोजेक्ट है जिसके द्वारा बेरोजगार युवक युक्तियों को सीधे रोजगार और स्वरोजगार से जोड़ना है यह प्रोजेक्ट पूर्व छत्तीसगढ़ शासन डॉ. रमन सिंह के द्वारा शुरुवात किया गया था वर्तमान छत्तीसगढ़ शासन श्री भूपेश बघेल द्वारा ऐसी कड़ी में रोजगार संगी मोइबल ऐप लांच किया गया है जिसमे प्रशिक्षण प्राप्त हितग्राहियो को प्रशिक्षण उपरांत तुरंत नौकरी उनके मोबाइल पर जानकारी प्राप्त हो रहा है अतः जो हितग्राही प्रशिक्षण प्राप्त कर लिए है वे जरूर Rojgar Sangi Mobile App में पंजीयन कर रोजगार की जानकारी प्राप्त कर पाने रूचि अनुशार नौकरी करे।

छत्तीसगढ़ के निशुल्क आवासीय प्रशिक्षण संस्थान आजीविका महाविद्यालयों (Livelihood Colleges ) की सूची

छत्तीसगढ़ के निशुल्क प्रशिक्षण संस्थान की जानकारी इस प्रकार है

  1. Baroda RSETI (BSVS) Dhamtari
  2. Baroda RSETI (BSVS) Durg
  3. Baroda RSETI (BSVS) Mahasamund
  4. Baroda RSETI (BSVS) Raipur
  5. Baroda RSETI (BSVS) Rajnandgaon

कौशल का अधिकार

राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था और एक युवा भारत में तेजी से विकास के साथ, हमारे युवाओं को अपने स्वयं के विकास के लिए और समग्र विकास को सक्षम करने के लिए प्रासंगिक कौशल के विकास की आवश्यकता है।

छत्तीसगढ़ ने इस विकास को अनिवार्य माना है और यह भारत का पहला राज्य है और अपने युवाओं को कौशल का अधिकार देने के लिए दक्षिण-अफ्रीकी सरकार के बाद केवल दूसरी सरकार है।

छत्तीसगढ़ का युवा अधिकार कौशल विकास अधिनियम, 2013 14 से 45 वर्ष के बीच के प्रत्येक व्यक्ति को उसके या उसके कौशल को अधिसूचित कौशल में से विकसित करने का अधिकार देता है, जो पात्रता आवश्यकताओं को पूरा करने के अधीन है, और जिला कौशल विकास प्राधिकरण जिला के तहत स्थापित किया गया है। कलेक्टर इस संबंध में कोई भी मांग प्राप्त करने के 90 दिनों के भीतर कौशल विकास प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए बाध्य हैं।

ये भी पढ़े – मशरुम की खेती कब और कैसे करें 

NCVT प्रमाणपत्र (Livelihood College Balod)

1 अप्रैल 2013 के बाद से, 1.8 लाख से अधिक युवाओं को श्रम और रोजगार मंत्रालय, भारत सरकार के तहत रोजगार और प्रशिक्षण महानिदेशालय द्वारा मॉड्यूलर रोजगार योग्य कौशल (एमईएस) के रूप में अनुमोदित विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रशिक्षित किया गया है।

इन पाठ्यक्रमों को नेशनल काउंसिल ऑफ वोकेशनल ट्रेनिंग (NCVT) द्वारा मान्यता प्राप्त है और, राष्ट्रीय रूप से सशक्त तीसरे पक्ष के मूल्यांकनकर्ता द्वारा मूल्यांकन के बाद, वे प्रशिक्षित NCVT प्रमाणपत्र प्राप्त करने के लिए पात्र हैं।

Livelihood College Balod in Chhattisgarh

छत्तीसगढ़ सरकार दूरस्थ और अल्प-सेवा वाले क्षेत्रों में रहने वाले लोगों द्वारा इस अधिकार की कवायद को सुरक्षित करने के लिए आवासीय प्रशिक्षण सुविधाओं के विस्तार की आवश्यकता के प्रति भी जागरूक है।

आजीविका महाविद्यालय के रूप में एक अनूठी पहल को सफलतापूर्वक दक्षिण बस्तर के दंतेवाड़ा जिले में शुरू किया गया। इस मुख्यतः आदिवासी और नक्सली हिंसा पीड़ित जिले के युवाओं को 2011 से कौशल की एक श्रेणी में प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है।

सितंबर 2014 तक प्रशिक्षित लगभग 4,500 युवाओं में से आधे से अधिक को या तो वेतन या स्वरोजगार में स्थापित किया गया है। इस जिला स्तर की पहल को फरवरी 2015 तक अन्य 25 जिलों में दोहराया गया है। हालांकि, वे 2017-18 तक, भौतिक बुनियादी ढाँचे के साथ पूर्ण रूप से पूर्ण पैमाने पर हासिल करेंगे, प्रत्येक कॉलेज में लगभग 1,000 युवाओं की वार्षिक प्रशिक्षण क्षमता होगी।

ये भी पढ़े : – अपने Computer पर Whatsapp का उपयोग कैसे करें?

Placement रोजगार लिंकेज

मजबूत रोजगार लिंकेज के साथ एक मजबूत नींव पर आजीविका महाविद्यालय की पहल को लागू करने के लिए, और निजी क्षेत्र के साथ भागीदारी सहित राज्य भर के छात्रों के लिए आजीविका के अवसरों की एक श्रृंखला प्रदान करने के लिए इस तरह की आजीविका कॉलेजों का एक नेटवर्क बनाने के लिए, राज्य सरकार स्थापित की गई है

द स्टेट प्रोजेक्ट लाइवलीहुड कॉलेज सोसाइटी। सोसायटी की गवर्निंग काउंसिल की अध्यक्षता मुख्यमंत्री द्वारा की जाती है और इसकी कार्यकारी समिति की अध्यक्षता मुख्य सचिव द्वारा की जाती है। इन निकायों पर एक दर्जन से अधिक हितधारक विभागों का प्रतिनिधित्व किया जाता है।

भारत सरकार ने रु। के एक बार के अतिरिक्त केंद्रीय सहायक के माध्यम से पहल का समर्थन किया है। बुनियादी ढांचे की लागत को पूरा करने के लिए 196 करोड़। राज्य सरकार द्वारा आवर्ती लागत का वहन किया जा रहा है, राज्य की अनूठी कौशल विकास अभिसरण योजना, मुखिया कौशल विकास योजना से प्रशिक्षण लागत पूरी की जा रही है, जिसमें कौशल विकास योजनाओं और 15 विभागों की 27 धाराओं से धनराशि परिवर्तित की जा रही है।

Target of Skill Development कौशल विकास के लक्ष्य

राज्य के युवाओं के लिए रोजगार से जुड़े कौशल विकास के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सोसायटी द्वारा विभिन्न मॉडल उठाए जा रहे हैं। इनमें विभागीय प्रशिक्षण, प्रतिष्ठित निजी क्षेत्र के भागीदारों के माध्यम से प्रशिक्षण और स्थापित खिलाड़ियों द्वारा कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी के तहत प्रशिक्षण शामिल हैं।

निजी खिलाड़ियों को शामिल करने में, सोसायटी भौतिक अवसंरचना, जुटाव और सुविधा प्रदान करेगी और भावी भागीदारों से बदले में रोजगार के प्रति प्रतिबद्धता की उम्मीद करेगी। राष्ट्रीय कौशल विकास निगम द्वारा प्रायोजित कौशल अंतर विश्लेषण अध्ययन के आधार पर हाल ही में डेलॉयट टूचे टोहमात्सु इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, ग्यारह कौशल विकास क्षेत्रों, जैसे सौंदर्य और कल्याण, आईसीटी, बैंकिंग और लेखा, निर्माण, चित्रकारी, ऑटोमोटिव मरम्मत, सुरक्षा, परिधान निर्माण द्वारा पूरा किया गया।

फैशन डिजाइनिंग, रिटेल, टेलिकॉम और हॉस्पिटैलिटी, को प्रतिष्ठित प्रशिक्षण भागीदारों के माध्यम से प्रशिक्षण के लिए पहचाना गया है, जिसमें बहु-राज्य पदचिह्न हैं। शीघ्र ही अभिरुचि व्यक्त की जाएगी।

SPLC livelihood college Chhattisgarh सोसायटी का लक्ष्य

livelihood college chhattisgarh सोसायटी का लक्ष्य बाजार के नेतृत्व वाली दृष्टि है। इस विजन को साकार करने के लिए इसका नेतृत्व अखिल भारतीय सेवाओं के एक वरिष्ठ अधिकारी द्वारा किया जा रहा है।

सीईओ गतिशील कौशल क्षेत्र को संबोधित करने के लिए आवश्यक कौशल और दक्षताओं के डायवर्ट सेट का प्रतिनिधित्व करने वाले पेशेवरों की एक टीम का नेतृत्व करेंगे।

टीम राज्य अर्थव्यवस्था की आवश्यकताओं, राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में राज्य के युवाओं के लिए अवसरों और राज्य के युवाओं की कौशल विकास आवश्यकताओं को समान रूप से संबोधित करने की आवश्यकताओं के संदर्भ में परिणामों पर ध्यान केंद्रित करेगी। सोसायटी ने अपनी टीम को आकर्षित करने और सक्षम करने के लिए एक लचीली और सक्षम मानव संसाधन योजना बनाई है।

 


अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे

Leave a Comment