Livelihood College Chhattisgarh [DPLC] आजीविका महाविद्यालय

अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे

Livelihood College Chhattisgarh में बेरोजगारो को निःशुल्क प्रशिक्षण   दिया जाता है livelihood college में प्रशिक्षण उपरांत विभिन्न संस्थानों रोजगार प्रदान किया जाता है।

Livelihood college छत्तीसगढ़ शासन द्वारा संचालित किया जा रहा है जैसे कि livelihood college अर्थात आजीविका महाविद्यालय नाम से स्पष्ट है की लोगों को अपने दैनिक जीवन अच्छे से यापन करने के लिए अपने पैरों में खड़ा होने के लिए लोगों के अंदर छिपे हुए कौशल को निखार कर लोगों को एक रोजगार और स्वरोजगार के अवसर प्रदान कर रहा है।

Livelihood College Chhattisgarh आजीविका महाविद्यालय [DPLC / SPLC]

Livelihood College

राज्य परियोजना आजीविका महाविद्यालय और जिला परियोजना आजीविका महाविद्यालय के रूप में छत्तीसगढ़ में के विभिन्न जिलों में संचालित किया जा रहा है जिसमें से लाइवलीहुड कॉलेज दंतेवाड़ा  एक बहुत अच्छा उदाहरण है जिसमें दंतेवाड़ा जिले के नक्सल  प्रभावित क्षेत्र के  बेरोजगार युवक युवतियां प्रशिक्षण लेकर अपने पैरों में खड़ा हो रहे हैं स्वयं आत्म निर्भर बन रहे हैं  साथ ही अपने परिवार का आजीविका चला रहे हैं।

livlihood college

Eligibility Criteria [योग्यता ]

1. Age – 14  To 45 Years :
आयु – 14 से 45 वर्ष

2. Education – Minimum 5th to 12th :
शिक्षा – 5 वी से 12 वी, सभी प्रशिक्षण कोर्स कार्यक्रम में अलग – अलग शैक्षणिक योग्यता निर्धारित की गयी अपने रूचि अनुसार कोर्स का चयन कर अपने योग्यता जाँच कर प्रशिक्षण प्राप्त किया जा सकता है।

3. छत्तीसगढ़ की मूल निवासी हो।

Required Documents [आवश्यक दस्तावेज]

1. Aadhar Card [आधार कार्ड]

2. Bank Pass [बैंक पास बुक की फोटो कॉपी ]

3. Education Certificate [शैक्षणिक योग्यता प्रमाण पत्र ] जैसे – 5वी से 12 वी

4. Ration Card [राशन कार्ड]

5. Passport Size Photo – 2 [स्वयं का २ पासपोर्ट फोटो]

6. जाति एवं निवास प्रमाण पत्र

Fees for Training  प्रशिक्षण शुल्क

छत्तीसगढ़ के लाइवलीहुड कॉलेजों में प्रशिक्षण के लिए किसी भी प्रकार का शुल्क देने की जरूरत नहीं है क्योंकि यह राज्य सरकार द्वारा स्थापित कॉलेज है जो सभी बेरोजगार युवक-युवतियों को उनके हुनर को निखार कर रोजगार और स्वरोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए शुरू किया गया है यह प्रशिक्षण पूर्णता निशुल्क है साथ ही इसमें प्रशिक्षण टूल किट, कॉपी, पेन, बैग और ट्रेनिंग ड्रेस निशुल्क प्रदान किया जाता है।

ये भी जाने   – व्यापार , व्यवसाय कैसे शुरू करे साथ ही जाने व्यापार  व्यवसाय में सफल होने के लिए हमारे में क्या क्या गुण, विशेषताये होनी चाहिए?

Livelihood College Courses –

  1. Domestic Data  Entry Operator
  2. Security Guard
  3. Sewing Machine Operator
  4. Assistant Electrician
  5. Mason General
  6. Field technician computing and peripherals
  7. House keeping attendant
  8. Plumber
  9. Retail Sales Associate
  10. Food and Beverage Service – Steward
  11. Mobile handset repair engineer
  12. Amnual Metal Arc Welding / Shielded Metal Arc Welding Sector
  13. Field Technician – AC

ये पढ़े : टैली ERP हिंदी में सपूर्ण जानकारी।  

MES Curriculum  Download

ट्रेनिंग कोर्स की  अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे 

Livelihood College in Chhattisgarh

Livelihood College Dhamtari

जिला परियोजना आजीविका महाविद्यालय लाइवलीहुड कॉलेज पूर्णता शासकीय परियोजना है जोकि राज्य शासन के द्वारा संचालित किया जाता है जिसमें युवाओं को उनकी रुचि के आधार पर मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना एवं मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना एवं प्रधान मंत्री कौशल विकास योजना के अंतर्गत रोजगार व स्वरोजगार मुल्क विभिन्न नेशनल स्किल क्वालीफिकेशन फ्रेमवर्क कोर्सों में ट्रेनिंग   दिया जा रहा है

धमतरी जिले के बेरोजगार युवक-युवतियों के लिए सुनहरा अवसर आवास सुविधा के साथ निशुल्क प्रशिक्षण लाइवलीहुड कॉलेज धमतरी में दिया जा रहा है ।

इच्छुक युवक-युवती संस्थान में व्यक्तिगत संपर्क कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं प्रशिक्षण हेतु इच्छुक युवक युवतियां अपने साथ दो फोटो, अंकसूची, जाति प्रमाण पत्र, मतदाता परिचय पत्र, आधार कार्ड और बैंक पासबुक की छायाप्रति साथ लेकर प्रशिक्षण के लिए आवेदन किया जा सकता है

dhamtari livelihood college

Address: Livelihood College, Near New Civil Court, Rudri Raod, Collectoret Parisar, Dhamtari  Chhattisgarh 493773 Phone: 07722232509 for More Information – Mr. Gajendra Yadav, Office Assistant 8319156134 and Mr. Khemlal Sahu, IT  Master Trainer – 9098182654.

ये भी जाने :- मुख़्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना में पाए 1 से 25 लाख का लोन, आवेदन पत्र एवं सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करे।

Livelihood College Raipur –

Address: Livelihood College, Khamardih Rd, Shankar Nagar, Raipur, Chhattisgarh 492007

Phone: 077122 81881

Raipur Livelihood College

Livelihood College Dantewada –

dantewada livelihood college

Address: behind Collectorate, Dantewada, Chhattisgarh 494449

Phone: 078562 52272

Livelihood College Sukma –

Livelihood College Sukma

  Address : – Livelihood Campus Rd, Near Zila Panchyat Sukma, Chhattisgarh 494111

ये भी पढ़े  : – रोजगार संगी मोइबल ऐप लांच किया गया है

Livelihood College Govindpur Kanker

livelihood college kanker

Address: 9, Raipur – Jagdalpur – Vishakhapatnam road Arjuni, Chhattisgarh 494334, Raipur – Jagdalpur – Vishakhapatnam Rd, Arjuni, Chhattisgarh 494334

Livelihood College Ambikapur

 ambikapur livelihood college

Address: Near Government Polytechnic college, Ambikavani, Ambikapur, Chhattisgarh 497001

Livelihood College Bhilai & ICICI Academy for Skills

Livelihood College Bhilai

Address: Sector 6, Bhilai, Chhattisgarh 490006Phone:0788 666 4202

Also Read: RSETI Training Courses and Training Center. 

कौशल का अधिकार

राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था और एक युवा भारत में तेजी से विकास के साथ, हमारे युवाओं को अपने स्वयं के विकास के लिए और समग्र विकास को सक्षम करने के लिए प्रासंगिक कौशल के विकास की आवश्यकता है। छत्तीसगढ़ ने इस विकास को अनिवार्य माना है और यह भारत का पहला राज्य है और अपने युवाओं को कौशल का अधिकार देने के लिए दक्षिण-अफ्रीकी सरकार के बाद केवल दूसरी सरकार है। छत्तीसगढ़ का युवा अधिकार कौशल विकास अधिनियम, 2013 14 से 45 वर्ष के बीच के प्रत्येक व्यक्ति को उसके या उसके कौशल को अधिसूचित कौशल में से विकसित करने का अधिकार देता है, जो पात्रता आवश्यकताओं को पूरा करने के अधीन है, और जिला कौशल विकास प्राधिकरण जिला के तहत स्थापित किया गया है। कलेक्टर इस संबंध में कोई भी मांग प्राप्त करने के 90 दिनों के भीतर कौशल विकास प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए बाध्य हैं।

ये भी पढ़े – मशरुम की खेती कब और कैसे करें 

NCVT प्रमाणपत्र

1 अप्रैल 2013 के बाद से, 1.8 लाख से अधिक युवाओं को श्रम और रोजगार मंत्रालय, भारत सरकार के तहत रोजगार और प्रशिक्षण महानिदेशालय द्वारा मॉड्यूलर रोजगार योग्य कौशल (एमईएस) के रूप में अनुमोदित विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रशिक्षित किया गया है। इन पाठ्यक्रमों को नेशनल काउंसिल ऑफ वोकेशनल ट्रेनिंग (NCVT) द्वारा मान्यता प्राप्त है और, राष्ट्रीय रूप से सशक्त तीसरे पक्ष के मूल्यांकनकर्ता द्वारा मूल्यांकन के बाद, वे प्रशिक्षित NCVT प्रमाणपत्र प्राप्त करने के लिए पात्र हैं।

 दंतेवाड़ा जिले में शुरू Livelihood College Chhattisgarh

छत्तीसगढ़ सरकार दूरस्थ और अल्प-सेवा वाले क्षेत्रों में रहने वाले लोगों द्वारा इस अधिकार की कवायद को सुरक्षित करने के लिए आवासीय प्रशिक्षण सुविधाओं के विस्तार की आवश्यकता के प्रति भी जागरूक है।

आजीविका महाविद्यालय के रूप में एक अनूठी पहल को सफलतापूर्वक दक्षिण बस्तर के दंतेवाड़ा जिले में शुरू किया गया। इस मुख्यतः आदिवासी और नक्सली हिंसा पीड़ित जिले के युवाओं को 2011 से कौशल की एक श्रेणी में प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है।

सितंबर 2014 तक प्रशिक्षित लगभग 4,500 युवाओं में से आधे से अधिक को या तो वेतन या स्वरोजगार में स्थापित किया गया है। इस जिला स्तर की पहल को फरवरी 2015 तक अन्य 25 जिलों में दोहराया गया है। हालांकि, वे 2017-18 तक, भौतिक बुनियादी ढाँचे के साथ पूर्ण रूप से पूर्ण पैमाने पर हासिल करेंगे, प्रत्येक कॉलेज में लगभग 1,000 युवाओं की वार्षिक प्रशिक्षण क्षमता होगी।

ये भी पढ़े : – अपने Computer पर Whatsapp का उपयोग कैसे करें?

रोजगार लिंकेज

मजबूत रोजगार लिंकेज के साथ एक मजबूत नींव पर आजीविका महाविद्यालय की पहल को लागू करने के लिए, और निजी क्षेत्र के साथ भागीदारी सहित राज्य भर के छात्रों के लिए आजीविका के अवसरों की एक श्रृंखला प्रदान करने के लिए इस तरह की आजीविका कॉलेजों का एक नेटवर्क बनाने के लिए, राज्य सरकार स्थापित की गई है

द स्टेट प्रोजेक्ट लाइवलीहुड कॉलेज सोसाइटी। सोसायटी की गवर्निंग काउंसिल की अध्यक्षता मुख्यमंत्री द्वारा की जाती है और इसकी कार्यकारी समिति की अध्यक्षता मुख्य सचिव द्वारा की जाती है।

इन निकायों पर एक दर्जन से अधिक हितधारक विभागों का प्रतिनिधित्व किया जाता है। भारत सरकार ने रु। के एक बार के अतिरिक्त केंद्रीय सहायक के माध्यम से पहल का समर्थन किया है। बुनियादी ढांचे की लागत को पूरा करने के लिए 196 करोड़।

राज्य सरकार द्वारा आवर्ती लागत का वहन किया जा रहा है, राज्य की अनूठी कौशल विकास अभिसरण योजना, मुखिया कौशल विकास योजना से प्रशिक्षण लागत पूरी की जा रही है, जिसमें कौशल विकास योजनाओं और 15 विभागों की 27 धाराओं से धनराशि परिवर्तित की जा रही है।

कौशल विकास के लक्ष्य

राज्य के युवाओं के लिए रोजगार से जुड़े कौशल विकास के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सोसायटी द्वारा विभिन्न मॉडल उठाए जा रहे हैं। इनमें विभागीय प्रशिक्षण, प्रतिष्ठित निजी क्षेत्र के भागीदारों के माध्यम से प्रशिक्षण और स्थापित खिलाड़ियों द्वारा कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी के तहत प्रशिक्षण शामिल हैं।

निजी खिलाड़ियों को शामिल करने में, सोसायटी भौतिक अवसंरचना, जुटाव और सुविधा प्रदान करेगी और भावी भागीदारों से बदले में रोजगार के प्रति प्रतिबद्धता की उम्मीद करेगी।

राष्ट्रीय कौशल विकास निगम द्वारा प्रायोजित कौशल अंतर विश्लेषण अध्ययन के आधार पर हाल ही में डेलॉयट टूचे टोहमात्सु इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, ग्यारह कौशल विकास क्षेत्रों, जैसे सौंदर्य और कल्याण, आईसीटी, बैंकिंग और लेखा, निर्माण, चित्रकारी, ऑटोमोटिव मरम्मत, सुरक्षा, परिधान निर्माण द्वारा पूरा किया गया।

फैशन डिजाइनिंग, रिटेल, टेलिकॉम और हॉस्पिटैलिटी, को प्रतिष्ठित प्रशिक्षण भागीदारों के माध्यम से प्रशिक्षण के लिए पहचाना गया है, जिसमें बहु-राज्य पदचिह्न हैं। शीघ्र ही अभिरुचि व्यक्त की जाएगी।

livelihood college chhattisgarh सोसायटी का लक्ष्य

livelihood college chhattisgarh सोसायटी का लक्ष्य बाजार के नेतृत्व वाली दृष्टि है। इस विजन को साकार करने के लिए इसका नेतृत्व अखिल भारतीय सेवाओं के एक वरिष्ठ अधिकारी द्वारा किया जा रहा है।

सीईओ गतिशील कौशल क्षेत्र को संबोधित करने के लिए आवश्यक कौशल और दक्षताओं के डायवर्ट सेट का प्रतिनिधित्व करने वाले पेशेवरों की एक टीम का नेतृत्व करेंगे। टीम राज्य अर्थव्यवस्था की आवश्यकताओं, राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में राज्य के युवाओं के लिए अवसरों और राज्य के युवाओं की कौशल विकास आवश्यकताओं को समान रूप से संबोधित करने की आवश्यकताओं के संदर्भ में परिणामों पर ध्यान केंद्रित करेगी।

सोसायटी ने अपनी टीम को आकर्षित करने और सक्षम करने के लिए एक लचीली और सक्षम मानव संसाधन योजना बनाई है।

Conclusion –

Livelihood College छत्तीसगढ़ शासन का एक महत्वपूर्ण कौशल प्रोजेक्ट है जिसके द्वारा बेरोजगार युवक युक्तियों को सीधे रोजगार और स्वरोजगार से जोड़ना है यह प्रोजेक्ट पूर्व छत्तीसगढ़ शासन डॉ. रमन सिंह के द्वारा शुरुवात किया गया था वर्तमान छत्तीसगढ़ शासन श्री भूपेश बघेल द्वारा ऐसी कड़ी में रोजगार संगी मोइबल ऐप लांच किया गया है जिसमे प्रशिक्षण प्राप्त हितग्राहियो को प्रशिक्षण उपरांत तुरंत नौकरी उनके मोबाइल पर जानकारी प्राप्त हो रहा है अतः जो हितग्राही प्रशिक्षण प्राप्त कर लिए है वे जरूर Rojgar Sangi Mobile App में पंजीयन कर रोजगार की जानकारी प्राप्त कर पाने रूचि अनुशार नौकरी करे।


अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे

4 thoughts on “Livelihood College Chhattisgarh [DPLC] आजीविका महाविद्यालय”

Leave a Comment