Project Unnati scheme MGNREGA उन्नति योजना कौशल विकास हेतु प्रशिक्षण Skilling of Mahatma Gandhi NREGA Workers

अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे

Project Unnati scheme MGNREGA (उन्नति) इस योजना के तहत महात्मा गाँधी नरेगा योजना के तहत कार्य कर रहे परिवारों के सदस्यों को निःशुल्क कौशल विकास हेतु प्रशिक्षण प्रशिक्षण दिया जा रहा है

यह प्रोजेक्ट ग्रामीण परिवारों पर सदस्यों को केवल महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम से उनका निर्भरता को हटाकर उन्हें स्वयं से जीवन यापन करने हेतु इस योग्य बनाना कि वह स्वयं अपना जीवन चला सके और अपने परिवार का भी आजीविका चला सकें इसलिए उन्हें उनकी रुचि अनुसार कौशल प्रदान कर उन्हें रोजगार स्वरोजगार के लिए प्रेरित कर उन्हें रोजगार स्वरोजगार से जोड़ा जाएगा जिससे उनकी निर्भरता केवल नरेगा में ना रहे।

Project Unnati scheme MGNREGA

Project Unnati scheme MGNREGA क्या है

प्रोजेक्ट उन्नति योजना 2020 ग्रामीण विकास विभाग भारत सरकार की ओर से एक कौशल उन्नयन के तहत प्रशिक्षण प्रदान करने हेतु प्रारंभ किया गया है जिसमें केवल महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार अधिनियम 2005 के अंतर्गत कार्य कर रहे ग्रामीण परिवार के सदस्यों को प्रशिक्षण देकर उन्हें आत्मनर्भर बनाना है जिससे वहां अपना आजीविका बेहतर तरीके से चला सके और गरीबी से बाहर निकल सके।

उद्देश्य Project Unnati scheme MGNREGA – Objectives

Project Unnati scheme MGNREGA 2020 प्रोजेक्ट उन्नति का मुख्य उद्देश्य महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम के तहत कार्य कर रहे ग्रामीण गरीब परिवारों के सदस्यों को उनकी रुचि अनुसार उनको कौशल उन्नयन कर उनकी आजीविका सुधार हेतु उन्हें निशुल्क प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा

इस योजना Project Unnati scheme MGNREGA के तहत उन्हें रोजगार और स्वरोजगार दोनों तरह के प्रशिक्षण लेने का मौका दिया जाएगा वर्तमान में सभी परिवार महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम नरेगा पर निर्भर है उन परिवारों को महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम योजना से निर्भरता कम कर उन्हें स्वयं के पैरों पर खड़ा करना और उनकी आजीविका को बेहतर करने के उद्देश्य से इस योजना को प्रारंभ किया गया है।

योग्यता – Project Unnati scheme MGNREGA

  • इस योजना के तहत ऐसे परिवार जो महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम के तहत सन 2018-19 में 100 दिन कार्य कर चुके हो।
  • महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम के तहत कार्य कर रहे प्रत्येक परिवार से एक मेंबर जिनका उम्र 18 से 45 वर्ष के बीच हो प्रशिक्षण के लिए योग्य होगा
  • दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना (DDUGY) के तहत प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए अधिकतम उम्र 35 वर्ष
  • ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान (RSETI) और कृषि विज्ञान केंद्र (KVK) में प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए 18 से 45 वर्ष की उम्र निर्धारित किया गया है।
  • शैक्षणिक योग्यता के बारे में कहा गया है कि कोर्स के अनुसार शैक्षणिक योग्यता निर्धारित किया गया है इसमें किसी कोर्स का पांचवी पास किसी कोर्स का 8 वी पास किसी कोर्स का 10 वी पास है किसी कोर्स का 12 वी पास हो सकता है
  • इस प्रोजेक्ट का ध्यान देने वाली बात यह है कि एक परिवार से केवल एक ही कैंडिडेट एक ही प्रोग्राम को प्रशिक्षण प्राप्त कर सकता है और इन सभी हितग्राहियों जो प्रशिक्षण प्राप्त करने की इच्छुक है उन सभी का
  • रजिस्ट्रेशन कौशल पणजी के माध्यम से किया जाना है

प्रोजेक्ट लक्ष्य – Project Unnati scheme MGNREGA

इस प्रोजेक्ट का मुख्य लक्ष्य महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम के तहत कार्य कर रहे परिवारों के सदस्यों को रोजगार और स्वरोजगार के लिए केवल एक ही ट्रेनिंग प्रदान करना है

इस योजना के तहत केवल 3 वर्षों के लिए लाया गया है जिसमें 2021- 22 तक प्रोजेक्ट में काम किया जाना है इस योजना में लगभग दो लाख के हितग्राहियों को इन 3 सालों में कौशल देकर उन्हें अपने पैरों में खड़ा करना इनका मुख्य लक्ष्य है

ये भी पढ़े CSSDA छत्तीसगढ़ स्टेट स्किल डेवलपमेंट अथोरिटी (MMKVY)

इस वक्त इस Project Unnati scheme MGNREGA योजना का मुख्य बात यह है कि इसमें प्रशिक्षण लेने वाले हितग्राहियों को जो 100 दिन पूरा कर चुके हैं उन्हें स्टाइपेंड प्रदान किया जाएगा अर्थात उन्हें प्रशिक्षण के दौरान मजदूरी भुगतान किया जाएगा

इस Project Unnati scheme 2020 MGNREGA योजना के तहत हितग्राहियों का काउंसलिंग और मोबिलाइजेशन आवेदन हेतु कौशल पणजी एप का प्रयोग किया जाएगा इसमें मुख्य बात यह है कि जो कैंडिडेट पहले से राज्य सरकार और केंद्र सरकार से कौशल विकास प्रशिक्षण में प्राप्त प्राप्त कर चुके हैं उन्हें इस योजना के तहत प्रशिक्षण प्रदान नहीं किया जा सकता है

Project Unnati scheme MGNREGA

ये भी पढ़े – PM Kisan Samman Nidhi Scheme, Registration, Status, Beneficiary List जाने सम्पूर्ण जानकारी

Stipend for Candidate

इस योजना के तहत जो हितग्राही प्रशिक्षण प्राप्त करेंगे उन्हें स्टाइपेंड मजदूरी का भुगतान किया जाएगा लेकिन हितग्राही कम से कम प्रशिक्षण के दौरान 75% उपस्थिति दर्ज कर आएगा तभी उनको यह मजदूरी का भुगतान किया जाएगा स्टाइपेंड अनुदान की राशि प्रति दिवस अनुसार प्रदान किया जाएगा

Role of Mgnarega

इस योजना का मुख्य रूप से महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम विभाग के द्वारा मॉनिटरिंग किया जाएगा जिसमें हितग्राहियों के मजदूरी का भुगतान स्टाइपेंड एवं सभी तरह के प्रशिक्षण की देखरेख इस विभाग के माध्यम से किया जाएगा

Role of SRLM

राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन का मुख्य रोल यहां पर हितग्राहियों का चयन और उन्हें स्पॉन्सर करना है एसआरएनएम के द्वारा उन्हें कौशल पणजी एप में रजिस्ट्रेशन कराया जाना है

Bihan छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन NRLM बिहान की सम्पूर्ण जानकारी

निष्कर्ष

यह योजना एक बहुत ही अच्छा योजना है जिसमें महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार अधिनियम के तहत कार्य कर रहे परिवारों के सदस्यों को आत्मनिर्भर बनाने हेतु प्रशिक्षण दिया जाएगा अधिक जानकारी के लिए आओ अपने नजदीकी ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना और महात्मा गांधी नरेगा विभाग में जाकर संपर्क कर सकते हैं अगर आपको यह जानकारी अच्छा लगा तो नीचे जरूर कमेंट करें और अपने दोस्तों को शेयर करें।


अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे

Leave a Comment